जहां पिता को कराया एडमिट, उसी नशा-मुक्ति केंद्र के मालिक ने लूट ली नाबालिग की इज्जत

जहां पिता को कराया एडमिट, उसी नशा-मुक्ति केंद्र के मालिक ने लूट ली नाबालिग की इज्जत

गाजियाबाद के एक रेहेब सेंटर में 17 वर्षीय लड़की के साथ रेप का मामला सामने आया है। इंडिया टुडे के अनुसार पीड़िता का आरोप है कि उसके साथ रेहेब के मालिक ने रेप किया। पश्चिमी दिल्ली की रहने वाली 12वीं कक्षा की छात्रा काफी लम्बे समय से अपने पिता की शराब छुड़ाने में लगी थी। पीड़िता के पिता का ट्रांसपोर्ट का बिजनेस है। पीड़िता ने अपने पिता को कई बार रेहेब भेजा लेकिन वह उनकी शराब छुड़ाने में नाकाम रही। एक के बाद एक रेहेब में जाने के कारण पीड़िता का पिता बहुत हिंसक और गुस्से वाला बन गया था। इसी बीच जुलाई 2016 में पीड़िता को गाजियाबाद स्थित हैप्पी हॉम्स नामक एक रेहेब का पता चला। मेल टुडे से बातचीत में पीड़िता ने बताया कि “मुझे हैप्पी हॉम्स के बारे में ऑनलाइन डायरेक्टरी पोर्टल के जरिए पता चला जो कि मेरे बजट में था। उनसे मैंने संपर्क किया तो उन्होंने मुझे आश्वस्त कराया कि वे मेरे पिता को छह महीने के भीतर-भीतर ठीक कर देंगे। मैं घर में सबसे बड़ी हूं और मेरी मां काम पर जाती हैं। ऐसे में मैंने अपने छोटे भाई और घर की जिम्मादारी उठाई।”

पीड़िता ने अपने पिता को रेहेब में एडमिट कराया लेकिन उसे नहीं पता था कि यह उसके लिए एक बहुत बड़ा अपराध बन जाएगा। पीड़िता ने बताया कि दो दिनों के बाद मुझे रेहेब से फोन आया जो कि रेहेब मालिक का था। उसने मुझसे कहा कि तुम्हारे पिता मानसिक तौर पर परेशान हैं और वे इस बारे में मुझसे बात करना चाहते थे। मैंने उनसे कहा कि मेरी मां घर पर नहीं है और ऐसे में रेहेब सेंटर आना मेरे लिए मुमकिन नहीं है। इसके बाद उन्होंने मुझसे कहा कि तुम्हें इतना दूर आने की जरुरत नहीं है और वे मेरे लिए महिपालपुर के एक हॉटल में पिता के मनोचिकित्सक से मिलने का इंतजाम कर देंगे। पीड़िता द्वारा पुलिस में दर्ज कराई गई शिकायत के अनुसार वह रेहेब मालिक के साथ हॉटल पहुंची। वहां वह पिता के मनोचिकित्सक से बातचीत कर ही रही थी कि उसी दौरान उसने कॉल्ड ड्रिंक पी ली, जिसमें पहले से नशीला पदार्थ मिलाया हुआ था।

SHARE