UPTET-2017 : नोटिफिकेशन जारी ,ऑनलाइन आवेदन हुए शुरू

उत्‍तर प्रदेश बेसिक एजुकेशन डिपार्टमेंट ने ऑफिशियल नोटिफिकेशन जारी कर उत्‍तर प्रदेश टीचर एलिजिबिलिटी टेस्‍ट यानी UPTET 2017 के लिए आवेदन मांगे हैं. उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा 2017 (UPTET) के लिए ऑनलाइन आवेदन 25 अगस्त से शुरू हो चुके हैं। इच्छुक उम्मीदवार 13 सितंबर तक आवेदन कर सकते हैं। ऑनलाइन आवेदन करने के लिए http://upbasiceduboard.gov.in/tet_2017/main.aspx  वेबसाइट पर जाकर पूरा विवरण प्राप्त कर सकते हैं। परीक्षा नियामक प्राधिकारी कार्यालय द्वारा जारी विज्ञप्ति के मुताबिक परीक्षा की तिथि 15 अक्तूबर निर्धारित की गई है। इसके मुताबिक आपके पास परीक्षा की तैयारी के लिए लगभग डेढ़ महीने का समय बचा है। वहीं इस बार की UPTET परीक्षा हर बार से खास है क्योंकि सुप्रीम कोर्ट से समायोजन निरस्त होने के कारण इस बार UPTET परीक्षा में शिक्षामित्र भी हिस्सा लेंगे। ऐसे में फिर से अध्यापक का पद पाने के लिए शिक्षामित्र पना भाग्य आजमा सकते हैं।

महत्‍वपूर्ण तिथि:

आधिकारिक वेबसाइट पर ऑनलाइन रज‍िस्ट्रेशन 8 सितंबर की शाम 6 बजे तक किया जा सकेगा। आवेदन शुल्क जमा करने की अंतिम तिथि 11 सितंबर है। आवेदन पूर्ण करने की अंतिम तिथि 13 सितंबर है। 15 सितंबर की दोपहर से 19 सितंबर की शाम 6 बजे तक आवेदन में की गई त्रुटियों में संशोधन किया जा सकता है। इसके बाद आवेदन में कोई बदलाव नहीं हो सकेगा। ई-चालान के जरिए आवेदन शुल्क 26 अगस्त से जमा किए जा सकेंगे। ऑनलाइन पंजीकरण आठ सितंबर की शाम छह बजे तक किया जाएगा।

http://upbasiceduboard.gov.in/tet_2017/main.aspx  वेबसाइट पर लॉगइन करें.  होमपेज खुलेगा. अब UPTET लिंक पर क्लिक करें। नोटिफिकेशन और एप्लिकेशन का लिंक दिखेगा. उसे क्लिक करें ,अब Apply online पर क्लिक करें, आवेदन करें। ऑनलाइन पेमेंट करें सब्मिट करें। जब आवेदन पूरा हो जाए तो इसका एक प्रिंट लेकर अपने पास रख लें।

कैसा होगा पेपर:

परीक्षा में पांच विषयों से सवाल होंगे। कुल 150 सवाल होंगे। हर विषय में 30-30 नंबर के बहुविकल्पीय सवाल पूछे जाएंगे। वहीं इस परीक्षा में नेगेटिव मार्किंन नहीं होने से परीक्षार्थियों को काफी राहत मिलेगी। इस एग्‍जाम में दो पेपर दे सकते हैं. आप चाहें तो एक पेपर ही दें। ये आप्‍शनल है। एक या दोनों, ये आप पर निर्भर करता है। पहला कक्षा 1 से 5 के लिए और दूसरा कक्षा 6 से 8 तक पढ़ाने के लिए। दोनों पेपर्स आब्‍जेक्टिव टाइप प्रश्‍न पत्र होते हैं।

शिक्षामित्रों ने फॉर्म भरने शुरू कर दिए हैं। इससे जाहिर है कि वे परीक्षा में हिस्सा लेंगे। लेकिन उनके लिए परीक्षा की तैयारी के लिए समय काफी कम है। डेढ़ महीने के समय में उन्हें स्कूल जाकर पढ़ाना भी है और फिर खुद पढ़ना है। ऐसे में शिक्षामित्रों को परीक्षा में थोड़ी रियायत दी जानी चाहिए। उन्हें मैरिट से अलग रखा जाए। उनके लिए क्वालीफाई अंकों को ही पर्याप्त माना जाए।

SHARE