UP में स्वाइन फ्लू के 2100 से ज्यादा पॉजिटिव केस-53 की मौत, लखनऊ अकेले में 1364 मरीज

लखनऊ. इस साल यूपी में 2100 से ज्यादा लोग स्वाइन फलू की चपेट में आ चुके हैं। 53 लोगों की मौत हो चुकी हैं। वहीं, अकेले लखनऊ में अब तक 1364 पेशेंट्स के पॉजिटिव केस सामने आए हैं। पूरे प्रदेश में अब तक लखनऊ ने यूपी के सभी जिलों को काफी पीछे छोड़ दिया है। इसी कड़ी में रविवार को स्वाइन फ्लू से लखनऊ में 2 पेशेंट की मौत हो गई है। केजीएमयू में उनका ट्रीटमेंट चल रहा था। योगी सरकार ने उठाए ये कदम…

– सीएमओ डॉ. जीएस वाजपेयी के मुताबिक, राजधानी में रविवार को 43 पेशेंट की रिपोर्ट में स्वाइन फ्लू की पुष्टि हुई है। वहीं, 2 पेशेंट की डेथ भी हुई है। उनका केजीएमयू में इलाज चल रहा था।

-स्वाइन फ्लू के कुछ पेशेंट को हॉस्पिटल में एडमिट कराया गया है, वहीं अन्य का घर पर ट्रीटमेंट किया जा रहा है।
– स्वाइन फ्लू के पेशेंट को अलग कमरे में रखा जाता है। डॉक्टरों की टीम मौके पर जाकर पेशेंट को मेडिसिन और ट्रीटमेंट प्रोवाइड कराती है। एहतियात ही इस बीमारी से बचाव है।

– साथ ही सरकारी हॉस्पिटल्स में अलग से वार्ड बनाकर बेड आरक्षित कर दिए गए हैं। केजीएमयू, पीजीआई, डॉक्टर राम मनोहर लोहिया इंस्टिट्यूट और स्वास्थ्य भवन की स्टेट लैब में इसकी फ्री जांच की व्यवस्था की गई है।

– सरकार की तरफ से पेशेंट्स को फ्री में मास्क प्रोवाइड कराया जा रहा है। हॉस्पिटल को निर्देश दिए गए हैं कि 24 घंटों के अंदर जांच रिपोर्ट प्रोवाइड कराएं, ताकि समय पर स्वाइन फलू के पेशेंट्स का इलाज शुरू हो सके।

– हॉस्पिटल्स में टेमी फ्लू दवा पर्याप्त मात्र में उपलब्ध करा दी गई है। कोई भी व्यक्ति डॉक्टर के निर्देश पर जांच रिपोर्ट दिखाने के बाद इसे फ्री में प्राप्त कर सकता है।

मच्छरों के लार्वा मिलने पर नोटिस जारी
– सीएमओ के निर्देश पर लखनऊ में स्वास्थ्य विभाग के टीम ने अलग-अलग स्थानों पर छापेमारी की।

– गंदगी और मच्छरों के लार्वा मिलने पर 18 लोगों के खिलाफ नोटिस जारी कर उनसे जवाब तलब किया गया है।

– इसमें इंदिरा नगर निवासी राम नगीना सिंह, सुब्रमन्यम सिंह, मिथिलेश श्रीवास्तव, सत्यानन्द वर्मा, आरबी सिंह आदि लोग शामिल है।
– बता दें, गुरुवार को इस बीमारी से दो मरीजों की मौत की पुष्ट‍ि हुई थी। इनमें बंथरा हरौनी निवासी प्रतिभा (55) और ऐशबाग निवासी अंकित (48) शामिल हैं।

यहां स्वाइन फ्लू पेशेंट की डेथ पर हो चुका है हंगामा

– 16 अगस्त को मेरठ के मेडिकल कॉलेज में स्वाइन फ्लू से 3 लोगों की मौत हुई। इसपर उनके परिजनों ने जमकर हंगामा किया था।

– लोगों का आरोप था कि स्वाइन फ्लू वार्ड में पेशेंट का ट्रीटमेंट ठीक से नहीं किया जा रहा था। लापरवाही पर कड़ी कार्रवाई की मांग की थी।

क्या है स्वाइन फ्लू के लक्षण
– सांस लेने में तकलीफ होना।
– भूख न लगना
– लगातार सर्दी बुखार बना रहना।
– गले में जलन और दर्द।

– उल्टी या डायरिया भी स्वाइन फ्लू की वजह हो सकती है।

कैसा फैलता है स्वाइन फ्लू
– स्वाइन फ्लू का वायरस एच1एन1 तेजी से फैलता है।

– इस वायरस के संपर्क में आने वाले व्यक्ति को भी यह बीमारी हो सकती है।

ऐसे करें बचाव
– भीड़-भाड़ वाली जगहों पर न जाएं।
– बिना हैंडवॉश किए खाने-पीने की गलती न करें।
– यूज टॉवेल्स या बीमार व्यक्ति के बेड का इस्तेमाल न करें।
– स्‍वाइन फ्लू मास्‍क के बिना घर से बाहर न निकले।

– रोजाना गुनगुना पानी जरुर पिएं।

SHARE