पहले सफर पर निकली लखनऊ मेट्रो, गृहमंत्री राजनाथ, राज्यपाल व सीएम ने की सवारी

सीएम योगी, राज्यपाल और राजनाथ सिंह ने हरी झंडी दिखाकर मेट्रो को रवाना किया। कार्यक्रम में मौजूद सभी अतिथ‌ि मेट्रो की सवारी का लुफ्त उठा रहे हैं।
लखनऊ मेट्रो के उद्घाटन के मौके पर सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि इससे लखनऊ की जनता को सस्ता व सुलभ यातायात मिलेगा। अब उन्हें मेट्रो से चलने के लिए और इंतजार नहीं करना पड़ेगा। कल यानी छह सितंबर से ही लखनऊ मेट्रो का व्यावसायिक संचालन शुरू हो जाएगा।
सीएम योगी ने इस मौके पर अपना मेट्रो प्लान भी बताया। योगी ने कहा कि लखनऊ की तरह ही प्रदेश के अन्य शहरों में मेट्रो चलाने के लिए उत्तर प्रदेश मेट्रो कार्पोरेशन का गठन किया जाएगा। जिसके तहत प्रदेश के अन्य शहरों मेरठ, कानपुर, वाराणसी सहित कई शहरों में जरूरत के मुताबिक मेट्रो व सेमी मेट्रो सुविधा देने पर कार्य किया जाएगा।

योगी ने कहा कि प्रदेश के कई शहरों में मेट्रो संचालन के लिए हमनें डीपीआर तैयार कर ली है। कई शहरों के लिए तैयार कर रहे हैं। जिससे लोगों को बेहतर व सुलभ यातायात मिल सके।

– लखनऊ वासियों का इंतजार खत्‍म हुआ। केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह, राज्यपाल राम नाईक व सीएम योगी की मौजूदगी में लखनऊ मेट्रो का शुभारंभ हो गया। इस मौके पर मेट्रो मैन ई धरन मौजूद थे।

– मेट्रो उद्घाटन के विरोध को लेकर एलआईयू रिपोर्ट को देखते हुए पुलिस ने समाजवादी छात्रसभा के प्रदेश अध्यक्ष दिग्‍विजय सिंह प्रदेश उपाध्यक्ष मोनू दुबे व अन्य 12 नेताओं को सुबह तड़के ही गिरफ्तार कर लिया।

वहीं, कल यानी छह सितंबर से आमजन भी लखनऊ मेट्रो से सफर कर सकेंगे।

लखनऊ मेट्रो: 2000 करोड़ खर्च, रिकॉर्ड 1079 दिन में सफर को तैयार
– 2000 करोड़ रुपये अनुमानित नॉर्थ-साउथ कॉरिडोर का प्राथमिकता सेक्शन पर खर्च
– 4,000 मजूदरों ने किया प्राथमिकता सेक्शन पर काम
– 1079 दिन में तैयार होकर चलने जा रही लखनऊ मेट्रो
– 50-50 फीसदी हिस्सेदारी एलएमआरसी में केंद्र व राज्य की

3 लाख रोजाना करेंगे सफर
– 4 कोच की ट्रेन में 1310 यात्रियों की क्षमता
– 3 लाख यात्री एक दिन में करेंगे यात्रा
– 8 मेट्रो स्टेशनों के बीच 8.5 किमी में चलेगी अभी ट्रेनें
– 5 ट्रेन से अभी होना कॉमर्शियल रन
– 7 मिनट के बाद आएगी अगली ट्रेन

खासियतें यह भी
– 90 किमी प्रतिघंटा के लिए तैयार
– 80 किमी प्रतिघंटा के लिए आरडीएसओ का स्पीड सर्टिफिकेट
– 34 किमी प्रतिघंटा की स्पीड से होगा कॉमर्शियल रन
– 2.9 मीटर चौड़े हैं ट्रेन के कोच
– 16 सीसीटीवी कैमरों से ट्रेनों की होगी निगरानी
– 64 मोबाइल चार्जिंग पॉइंट ट्रेन में

SHARE