वीआईपी कल्‍चर के ख‍िलाफ हैं पीएम मोदी, फ‍िर भी कई साधु-संतों समेत 475 लोगों को दी है स्‍पेशल स‍िक्‍योर‍िटी

केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार वीआईपी लोगों को स्पेशल सिक्योरिटी देने में यूपीए सरकार से आगे निकल गई है। पूर्ववर्ती मनमोहन सिंह सरकार में कुल 350 लोगों को स्पेशल सिक्योरिटी (जेड प्लस, जेड, वाई और एक्स कैटगरी) मिल रही थी जो बढ़कर नरेंद्र मोदी की सरकार में 475 हो गई है। भाजपा के शासनकाल में सरकार ने कई साधु-संतों को भी विशेष सुरक्षा मुहैया कराई है। इनमें योगगुरू बाबा रामदेव, माता अमृतानंदमयी, रामजन्म भूमि श्राइन बोर्ड के अध्यक्ष महंत नृत्यगोपाल दास, विवादित सांसद साक्षी महाराज भी शामिल हैं। इनके अलावा गृह मंत्री राजनाथ सिंह के बेटे पंकज सिंह जो पहली बार यूपी के विधायक बने हैं, उन्हें भी विशेष सुरक्षा दी गई है। एनडीटीवी के मुताबिक करीब 15 राजनेताओं के बच्चों को सरकार एनएसजी सुरक्षा घेरा मुहैया करा रही है।

बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने खुद देश से वीआईपी कल्चर खत्म करने की बात कही थी और गाड़ियों से लाल-नीली-पीली बत्तियों को हटाने के लिए कानून बनवाया था। मोदी ने अपने मन की बात कार्यक्रम में भी इसका उल्लेख किया था लेकिन केंद्रीय गृह मंत्रालय के आंकड़ों से जाहिर होता है कि सरकार खुद उस कल्चर को बढ़ावा दे रही है।

हालांकि, मंत्रालय के अधिकारी कहते हैं कि सरकार जल्द ही इस लिस्ट की समीक्षा करेगी और वीआईपी सुरक्षा पा रहे लोगों की संख्या में कमी करेगी। इनमें से कुछ नेताओं को एनएसजी कमांडो और पारामिलिट्री फोर्सेज की सुरक्षा मिली हुई है। मंत्रालय सूत्रों के मुताबिक ऐसे नेताओं की सुरक्षा समीक्षा के बाद एनएसजी कमांडो की सेवा इनकी सुरक्षा से वापस ली जा सकती है।

SHARE