तीन दरिंदों के हत्थे चढ़ी महिला प्रधान, रातभर बंधक बनाकर किया गैंगरेप

देश में अब महिला ग्राम प्रधान भी सुरक्षित नहीं हैं। एक महिला प्रधान ने गांव के तीन लोगों पर गैंगरेप का आरोप लगाया है। दरिंदे घर में घुसे और महिला प्रधान को बंधक बनाकर आबरू लूट ली।
घटना उत्तर प्रदेश के बरेली जिले की है। एक गांव की महिला प्रधान ने पूर्व प्रधान के बेटों समेत तीन लोगों पर घर में घुसकर गैंगेरप का आरोप लगाया है। कोर्ट के आदेश पर तीनों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। हालांकि आरोपियों का कहना है कि पेशबंदी के तहत झूठा मुकदमा लिखाया गया है।
प्रधान का कहना कि रात उनके पति किसी काम से बाहर गए थे। वह बच्चों के साथ सो रही थी। पूर्व प्रधान के बेटे नरायन दास, रूपेश गांव के ही बालकिशन को लेकर घर में घुस आए और उन्हें दबोच लिया। तीनों ने बलात्कार किया।

विरोध पर गालीगलौज और मारपीट भी की। पड़ोस के लोग पहुंचे तो तीनों जान से मार डालने की धमकियां देते भाग गए। अगले दिन प्रधान थाने पहुंची और आपबीती बताई लेकिन पुलिस ने एफआईआर लिखने के बजाय भगा दिया।
इसके बाद 156/3 के तहत एसीजेएम सेकंड कोर्ट में इश्तगासा दायर किया गया। एसीजेएम सेकंड कोर्ट के आदेश पर शाही थाने में घर में घुसकर गैंगरेप और संबंधित धाराओं में तीनों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। उधर, नरायन दास का कहना है कि चुनावी रंजिश में पेशबंदी के तहत झूठा मुकदमा लिखाया गया है।

SHARE