नेपोटिज्म के सवाल पर पहले जोर से हंसी काजोल, फिर बोल दी ये बात

इन दिनों नेपोटिज्म की बहस को लेकर बॉलीवुड गलियारा काफी गर्माता जा रहा है। अब बात काजोल के ऊपर आना तो लाजमी हैं। दरअसल काजोल की मां तनुजा, उनकी आंटी नूतन और दादी मां शोभना समर्थ सब ही इंडस्ट्री का हिस्सा रह चुकी हैं।
ऐसे में काजोल से नेपोटिज्म पर चल रही बहस पर उनकी राय मांगी गई। इस पर काजोल पहले तो जोर से हंसी और बोलीं, “मुझे लगा है कि ये एक मूट प्वाइंट है। ये एक ऐसी बहस है जो दो लोगो के बीच है जो एक दुसरे के बयानो के बारे में बात करते रहते हैं।”

काजोल मे आगे कहा, “हर बच्चा बड़ा होकर अपने माता- पिता जैसा बनना चाहता हैं। मुझे लगता है कि वकील के बच्चे बड़े होकर वकील बनना चाहते है, कभी कभी डॉक्टर के बच्चे बड़े होकर वकील बनना चाहते हैं। ये एक खुली दुनिया है और सबका अपना स्पेस है। बच्चा जो बनना चाहता है वो बन सकता है। फिल्म इंडस्ट्री एक ऐसी जगह है जहां लोग अपने टैलेंट और कठीन परिश्रम से सफल होते हैं।”

काजोल ने इस बातचीत के दौरान अपने बच्चों नयासा और युग के करियर के बारे में बात करते हुए कहा, “में अभी उनके करियर को लेकर कोई प्लानिंग नहीं कर रही हूं। में उन्हें सिर्फ जीवन में खुश रहने के लिए रास्ता दिखा सकती हूं।”

इसके साथ ही काजोल ने शाहरुख की बेटी सुहाना के साथ हुए उस वाकया का जिक्र भी किया जिसमें फोटोग्राफर्स सुहाना को फॉलो कर रहे थे। काजोल का कहना है अगर ऐसा नयासा या युग के साथ होता तो वो काफी बेचैन हो जाती। काजोल का कहना है कि ये वाकई बेहद गलत है।

SHARE