इनको रेप करना सिखाया जाता है, यही इनका संस्कार: मुस्ल‍िम समुदाय पर बीजेपी सांसद का कमेंट

यूपी के कैराना से बीजेपी सांसद ने शनिवार को विवादित बयान दिया। उन्होंने कहा- ”मुस्लिम समुदाय के यवकों को यही सिखाया जाता है कि वो रेप करें। यही उनके संस्कार हैं। भारत में ये हाल है तो पाकिस्तान में रहने वाले हिंदुओं का क्या हाल होगा।” बता दें ने ये बयान शामली में समुदाय विशेष के युवकों द्वारा एक किशोरी के अपरहण और दुष्कर्म के मामले का जिक्र करते हुए दिया।

पढ़े:राधे माँ संबंध बनाने के लिए कैसे उकसाती थीhttp://cnnhindi.com/radhey-maa-tried-for-doing-sex-with-those-like

देश के पीएम मादी फिर भी नबालिग बच्ची का रेप
– हुकुम सिंह ने कहा- ”एक बात पर आप लोग विचार करें, ये आपका देश है। देश के प्रधानमंत्री मादी हैं और योगी जी यहां के मुख्यमंत्री हैं। इसके बाद भी कुछ लोगों में इतनी हिम्मत है कि नाबालिग बच्ची को उठा कर ले जाते हैं, रेप करते हैं और आज वो होश में भी नहीं है। आखिर इसके पीछे क्या कारण है।”
– ”आप अनुमान लगाइए कि जब भारत में ये हाल है तो पाकिस्तान में रहने वाले हिंदुओं का क्या हाल होगा। थोड़ा विचार करो इसपर। अगर इन लोगों के संस्कार ही यही हैं, यही सिखाया जाता है इनको तो सोचो जहां इनकी सरकार होगी वहां ये क्या करेंगे।”

एक भी घटना नहीं कि हिंदू लड़के ने रेप किया हो
– हुकुम सिंह ने आगे कहा- ”मेरी जानकारी में एक भी घटना नहीं है कि किसी हिंदू लड़के ने दुराचार किया हो। मैंने न अखबार में पढ़ा न मेरी जानकारी में आया। और कोई ऐसा साल नहीं जाता जब ये (मुस्लिम समुदाय के युवक) कोई नालायकी के काम न करते हों।”
– ”इन्हें समझाने वाला कोई नहीं क्या? शायद न हो। लेकिन ये जो कानून के रखवाले हैं, इनको जब जिम्मेदारी दी गई है कि उन्हें सुरक्षा प्रदान करनी है और इसमें वो असफल होते हैं तो उन्हें इस्तीफा देना चाहिए।”

हमारी सभ्यता कि हम लठ लेकर सामने खड़े नहीं होते
– बीजेपी सांसद ने कहा- ”अब हमें अभियान ये खड़ा करना है कि कोई किसी लड़की के साथ बुरा काम करेगा तो हम लोग ऐसा माहौल बनाएंगे कि किसी का साहस न हो।”
– ”मैं चाहता हूं यहां के प्रशासनिक अधिकारी की मीटिंग बुलाकर ये संदेश क्लियर कर दें। इन्हें (मुस्लिम समुदाय) लाइसेंस मिला है क्या? जो ये कुछ भी कर लेंगे और हम लोग चुप रहेंगे।”
– ”अरे ये तो हमारी संस्कृति, सभ्यता है कि हम लठ लेकर सामने खड़े नहीं होते। इन लोगों के सामने संदेश जाना चाहिए कि अब ये ऐसी हरकत न करें।”

SHARE