नहीं म‍िलेंगे McDonalds’s बर्गर,बंद होंगे सभी169 स्टोर

नई दिल्ली: मैकडोनाल्डस इंडिया ने कनाट प्लाजा रेस्टोरेंट लिमिटेड सीपीआरएल द्वारा उार व पूर्व भारत में चलाए जा रहे सभी 169 रेस्त्राओं के लिए व्यावसायिक करार खत्म कर दिया है। कंपनी ने सीपीआरएल पर अनुबंध की शर्तों के उल्लंघन और भुगतान में चूक का आरोप लगाते हुए यह कदम उठाया है और इससे वह अब मैकडॉनाल्ड के नाम, चिह्न और बौद्धिक सम्पदा का इस्तेमाल नहीं कर पाएगी।

मैक्डी के प्रचलित नाम से जानी जाने वाली मैकडोनाल्डस अमेरिका की एक प्रमुख बर्गर रेस्त्रां कंपनी है और मैकडॉनाल्ड्स इंडिया इसकी भारतीय इकाई है।आपसी समझौता रद्द करने के इस नोटिस से सीपीआरएल अपने बिक्री केंद्रों पर मैक्डॉनल्डस के ब्रैंड का इस्तेमाल नहीं कर पाएगी। इन केंद्रों पर हजारों की संख्या में कर्मचारी हैं।

उद्यमी विक्रम बख्शी की अगुवाई वाली सीपीआरएल का मैकडोनाल्ड्स इंडिया से विवाद चल रहा था। यह विवाद कंपनी के प्रबंधन को लेकर था। सीपीआरएल में बक्शी और मैकडोनाल्ड्स इंडिया आधे-आधे की भागीदार हैं।

मैकडॉनाल्ड्स इंडिया ने आज एक बयान में कहा कि उसने 169 रेस्त्राओं के परिचालन के लिए मैकडॉनल्ड्स इंडिया प्राइवेट लिमिटेड और सीपीआरएल के बीच फ्रैंचाइजी समझौता खत्म करने का नोटिस सीपीआरएल के निदेशक मंडल को भेज दिया है। उक्त सभी 169 मैक्डॉनाल्ड रेस्त्राओं का परिचालन सीपीआरएल उत्तर व पूर्वी भारत में करती है।

नोटिस के जवाब में विक्रम बख्शी ने कहा है कि यह निर्णय एनसीएलटी के फैसले को खुली चुनौती है, जिसने सीपीआरएल बोर्ड को बैठक कर विभिन्न मुद्दों पर विचार करने का निर्देश दिया था। बख्शी ने कहा, ‘इस नोटिस का समय बहुत ही संदिग्ध है क्योंकि यह प्रशासक द्वारा बुलाई गई पहली बोर्ड बैठक की सुबह आया है। एनसीएलटी ने इस मामले में प्रशासक नियुक्त किया था।’ बख्शी ने कहा कि सीआरपीएल सभी विधिसम्मत कदम उठाने पर विचार कर रही है।

SHARE