पद्ममावती विवाद: करणी सेना ने बदला स्टैंड, रिलीजिंग का फैसला रॉयल फैमिली ‘मेवाड़’ पर छोड़ा

पद्ममावती विवाद: करणी सेना ने बदला स्टैंड, रिलीजिंग का फैसला रॉयल फैमिली 'मेवाड़' पर छोड़ा
फिल्म ‘पद्मावती’ का विरोध कर रही करणी सेना अब इस पर अपना स्टैंड बदलती दिख रही है। करणी सेना ने फैसला अब रॉयल फैमिली मेवाड़ पर छोड़ दिया है और कहा कि अगर मेवाड़ परिवार फिल्म को देखने के बाद उसमें कुछ आपत्तिजनक नहीं पाता है, तो इस विरोध को खत्म कर दिया जाएगा।

करणी सेना का बयान उस वक्त सामने आया है, जब चित्तोढ़गढ़ के राजा रावल रतन सिंह के रिश्तेदार अरविंद सिंह मेवाड़ ने मामले को सुलझाने की अपील की। अरविंद सिंह मेवाड़ ने कहा की पद्मावती विवाद में मीडिएटर की भूमिका निभा सकते हैं अगर भंसाली इसके लिए राजी हो जाते हैं।

दरअसल, देशभर में विरोध के बाद फिल्म की रिलीजिंग डेट को 1 दिसंबर के बजाय 12 जनवरी कर दिया गया है। करणी सेना का कहना है कि फिल्म  में इतिहास को तोड़मरोड़ कर पेश किया गया है और वे इसको बर्दाश्त नहीं कर सकते। फिल्म का विरोध इस कदर बढ़ गया है कि लोगों के अलावा राजतीनिक महकमे में भी इसकी हलचल दिखने लगी है।

कानून व्यवस्था के चलते राज्य सरकारें भी इसकी रिलीजिंग पर लगातार विचार कर रही है। बता दें कि यूपी, मध्यप्रदेश, राजस्थान और पंंजाब सरकार ने पद्मावती को रिलीज करने से इनकार कर दिया है। वहीं महाराष्ट्र सरकार मुद्दे पर अभी भी चिंतन कर रही है।

SHARE