ईरान ने बैलिस्टिक मिसाइल का परीक्षण ,अमेरिकी चेतावनी को किया नजरअंदाज

ईरान ने 2,000 किलोमीटर की दूरी तक मार करने में सक्षम एक बैलिस्टिक मिसाइल लॉन्च की है। समाचार एजेंसी सिन्हुआ के अनुसार, ईरान के सरकारी चैनल प्रेस टीवी ने नई बैलिस्टिक मिसाइल ‘खोर्रामशाहर’ के सफल परीक्षण के एक फुटेज का प्रसारण किया। इसे शुक्रवार को एक सैन्य परेड में पेश किए जाने के कुछ ही घंटों बाद लॉन्च किया गया। इस सैन्य परेड में राष्ट्रपति हसन रूहानी और वरिष्ठ सैन्य अधिकारी शामिल हुए। रिपोर्ट के मुताबिक, इस मिसाइल को शुक्रवार देर शाम लॉन्च किया गया। इस संबंध में अधिक जानकारी नहीं मिली है। इस्लामिक रिवोल्यूशन गार्ड्स कॉर्प्स (IRGC) ऐरोस्पेस डिविजन के वरिष्ठ कमांडर ब्रिगेडियर जनरल अमीर अली हाजिजादेह ने शुक्रवार को संवाददाताओं को बताया कि यह बैलिस्टिक मिसाइल एक साथ कई हथियार ले जाने में सक्षम है।

एक तरफ नॉर्थ कोरिया लगातार धमकियां देकर अमेरिका की नाक में दम कर रहा है वहीं दूसरी तरफ अब ईरान ने भी उसे आंख दिखाई है। खबरों के अनुसार ईरान में 2 हजार किमी दूर तक मार करने वाली बलैस्टिक मिसाइल का सफल परीक्षण किया है। ईरान के इस कदम को अमेरिकी के लिए चुनौती के रूप में देखा जा रहा है। दरअसल ट्रंप ने एक ऐसे विधायक पर हस्ताक्षर किए थे जो ईरान के बलैस्टिक मिसाइल कार्यक्रम में शामिल लोगों और ईरान के साथ व्यापार करने वालों पर जुर्माने की बात कहता है। ईरान की अर्ध-सरकारी तसनीम समाचार एजेंसी ने सोमवार को सेना मुख्यालय के उप प्रमुख जनरल अली अब्दुल्लाही के हवाले से बताया कि परीक्षण किए गए मिसाइल की रेंज 2,000 किलोमीटर है, जो दो हफ्ते पहले किया गया था। परीक्षण से समझौते का उल्लंघन नहीं होने पर जोर दे रहे ईरान द्वारा यह जाहिर करने की संभावना है कि यह अपने बैलिस्टिक कार्यक्रम को आगे बढ़ा रहा है। गौरतलब है कि मार्च में ईरान ने दो बैलिस्टिक मिसाइलों का परीक्षण किया था।

हाजिजादेह ने बताया, “यह मिसाइल ईरान की अन्य बैलिस्टिक मिसाइलों की तुलना में आकार में छोटी लेकिन अधिक प्रभावशाली है। इसे निकट भविष्य में उपयोग में लाया जाएगा।” ईरान सैन्यबल ने शुक्रवार को इराक के साथ 1980-1988 युद्ध की याद में एक सैन्य परेड का आयोजन किया था, जिसमें देश की उन्नत सैन्य शक्तियों को पेश किया गया। इस मौके पर इरान ने अन्य बैलिस्टिक मिसाइलों का भी प्रदर्शन किया, जिसकी मापक क्षमता 1,300 किमी से लेकर 2,000 किमी की दूरी तक थी।

ईरान के राष्ट्रपति हसन रूहानी ने अमेरिका और फ्रांस की बैलिस्टिक मिसाइल पर की गई आलोचना को नजरअंदाज किया है। उन्होंने कहा है कि उनका देश आलोचना के बावजूद अपनी बैलिस्टिक मिसाइल क्षमताओं को बढ़ाएगा। इसमें जोड़ते हुए राष्ट्रपति ने कहा कि चाहे आप पसंद करें या नहीं, हम अपनी सैन्य क्षमताओं को मजबूत करने जा रहे हैं जो कि हमारे बचाव के लिए जरूरी हैं। अमेरिका ने बैलिस्टिक मिसाइल क्षमताओं को बढ़ाने पर ईरान को कहा था कि इन्होंने समझौते की भावना का उल्लंघन किया है क्योंकि वे परमाणु ले जाने में सक्षम हैं।
वहीं अमेरिका के इस रूख को फ्रांस का भी समर्थन मिला था। फ्रांस के राष्ट्रपति एमैनुएल मैक्रों ने कहा कि इस समझौते का मिसाइल परीक्षणों पर बैन तक विस्तार किया जाना चाहिए और उस खंड को हटाया जाना चाहिए जिसके तहत ईरान वर्ष 2025 से कुछ यूरेनियम इनरिचमेंट फिर से शुरू कर सकता है।

SHARE