वनडे में भी नंबर वन की कुर्सी हासिल कर सकती है टीम इंडिया

भारतीय क्रिकेट टीम के पास ऑस्ट्रेलिया से होने वाली वनडे सीरीज के बाद टेस्ट के साथ ही वनडे में भी नंबर एक टीम बनने का अच्छा मौका है. फिलहाल टीम इंडिया टेस्ट में नंबर वन टीम है और वनडे में नंबर तीन की टीम है. साथ कंगारू टीम के पास भी इस सीरीज में नंबर वन को पोजिशन हासिल करने का भरपूर मौका होगा.

वनडे रैंकिंग में नंबर तीन पर मौजूद भारत नंबर दो पर काबिज ऑस्ट्रेलिया से केवल दशमलव के बाद के अंकों से ही पीछे है. दोनों टीमों के इस समय 117 अंक हैं. इसलिए भारत के साथ ही ऑस्ट्रेलिया के लिए भी इस सीरीज में नंबर वन बनने का मौका है.

सीरीज़ का नतीजा         भारत          ऑस्ट्रेलिया
भारत-5, ऑस्ट्रेलिया-0        122             113
भारत-4, ऑस्ट्रेलिया-1        120             114
भारत-3, ऑस्ट्रेलिया-2        118             116

सीरीज़ का नतीजा         भारत          ऑस्ट्रेलिया
भारत-0, ऑस्ट्रेलिया-5        113             122
भारत-1, ऑस्ट्रेलिया-4        114             120
भारत-2, ऑस्ट्रेलिया-3        116             118

फ़िलहाल दक्षिण अफ़्रीका 119 अंकों के साथ नंबर 1 पर बना हुआ है. भारत और ऑस्ट्रेलिया दोनो ही टीमों के 117 अंक हैं.  डेसिमल पॉइंट्स में अंक निकालने पर ऑस्ट्रेलियाई टीम भारत से आगे निकलती है.

दोनों देशों के बीच 17 सितंबर से 1 अक्टूबर तक पांच मैचों की वनडे सीरीज होनी है. दोनों टीमों के लिए नंबर वन बनने का समान अवसर इसलिए हैं क्योंकि अभी पहले नंबर की टीम दक्षिण अफ्रीका की टीम इन दोनों से केवल दो अंक ही आगे है.

भारत की मौजूदा टीम ने श्रीलंका को उसी के घर में वनडे सीरीज में 5-0 से मात दी है. टीम के खिलाड़ी जबरदस्त फॉर्म में हैं. जबकि ऑस्ट्रेलिया बांग्लादेश से टेस्ट मैच हारने के बाद भारत आई है. ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ भारत को घरेलू परिस्थितियों का लाभ मिलेगा. पिछले साल टेस्ट सीरीज में भारत ने ऑस्ट्रेलिया को चार टेस्ट मैचों की सीरीज में 2-1 से मात दी थी.

भारतीय टीम के रिकॉर्ड को देखें तो 2017 में विराट को कप्तानी मिलने के बाद से कुल 18 वनडे मैचों में से टीम ने 13 जीते, 4 हारे और 1 मैच बेनतीजा रहा. इन मैचों में भारत ने औसतन 6 रन प्रति ओवर से रन बनाए हैं. इन मैचों में 7 बार भारत ने 300 से ज्यादा का स्कोर बनाया और पहले बल्लेबाज़ी करते हुए 6 पूरे हुए मैचों में से 5 बार 300 से बड़ा लक्ष्य विपक्षी टीम को दिया. दूसरी ओर, ऑस्ट्रेलिया टीम ने 2017 में खेले 10 मैचों में से 4 जीते , 4 हारे और 2 बेनतीजा रहे. ऐसे में भारतीय टीम की लय को भारतीय ज़मीं पर रोकना, वह भी तब जब मिचेल स्टार्क, जॉश हेज़लवुड और एरॉन फ़िंच जैसे खिलाड़ी टीम का हिस्सा नहीं हैं, इस कंगारू टीम के लिए बेहद मुश्किल होगा.

SHARE