मै नहीं चाहता कि लोग मोदी के जैसे मुझ पर तरस खाए :मनमोहन सिंह

मै नहीं चाहता कि लोग मोदी के जैसे मुझपर तरस खाए :मनमोहन सिंह

गुजरात में चल रहे चुनाव प्रचार में शनिवार (2 दिसंबर) को कांग्रेस की ओर से पूर्व प्रधानमंत्री डॉ मनमोहन सिंह ने मोर्चा संभाला और पीएम नरेंद्र मोदी पर एक के बाद एक कई हमले किये। डॉ मनमोहन सिंह ने नरेंद्र मोदी द्वारा बार-बार गरीबी में अपने गुजरे बचपन का जिक्र करने पर कहा कि वे नहीं चाहते कि उनके बैकग्राउंड को लेकर देश उन पर तरस खाए। सूरत में संवाददाताओं से बातचीत में पूर्व पीएम ने कहा, ‘मैं नहीं चाहता कि देश मेरे बैंकग्राउंड को लेकर मुझ पर तरस खाए, मैं नहीं सोचता हूं कि मैं इस मुद्दे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के साथ कोई कॉम्पीटिशन करना चाहूंगा।’ पूर्व पीएम ने सूरत में एक चुनावी रैली में नोटबंदी का भी जिक्र किया। डॉ मनमोहन सिंह ने कहा कि 8 नवंबर का दिन देश की अर्थव्यवस्था और लोकतंत्र के लिए काला दिन था। पूर्व पीएम मनमोहन सिंह ने कहा, ‘ मैं 100 से ज्यादा उन लोगों को याद करता हूं जो कतार में खड़े होने के दौरान मर गये, इसकी वजह नोटबंदी थी। मैं बेहद दर्द और जिम्मेदारी के साथ कहना चाहूंगा कि 8 नवंबर का दिन भारत की इकोनॉमी और लोकतंत्र के लिए काला दिन था।’

मनमोहन सिंह ने पीएम मोदी द्वारा देश के पहले प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू और सरदार पटेल की तुलना करने पर भी हमला बोला। डॉ मनमोहन सिंह ने कहा कि नरेन्द्र मोदी जी अक्सर दोनों नेताओं के बारे में बात करते हैं कि लेकिन इससे कुछ हासिल नहीं होने वाला है। भारतीय जनता पार्टी ने पूर्व पीएम डॉ मनमोहन सिंह के इन बयानों पर प्रतिक्रिया दी है और कहा है कि ये पूर्व प्रधानमंत्री की मजबूरी को दिखाती है। पेट्रोलियम मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान ने कहा कि, ‘डॉ मनमोहन सिंह को एक परिवार के प्रति वफादारी साबित करने के लिए गलत बातें भी बोलनी पड़ रही है, ये उनकी मजबूरी है। जीडीपी के आंकड़े अभी अभी आए हैं और उसके सारे सवालों का जवाब मिल गया है।’

SHARE