हैवानियत की हद्द: महिला से 3 ने किया गैंगरेप, प्राइवेट पार्ट में डाली बोतल

भोपाल गैंगरेप: मेडिकल रिपोर्ट में लिखा, पीड़िता की 'सहमति से' हुआ सब कुछ, नोटिस जारी

पश्चिम बंगाल के बीरभूमि जिले में एक महिला से हैवानियत करने वाले तीन दरिंदों में से एक को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। घरेलू सहाय के रूप में काम करने वाली महिला से कथिततौर पर तीन लोगों ने गैंगरेप किया था और महिला के प्राइवेट पार्ट में कांच की बोतल डाल डाल दी थी।
पुलिस ने बताया कि आरोपियों में से एक शख्स से महिला के निजी संबंध थे और वह इस शख्स से छुटकारा पाना चाहती थी। महिला की इसी बात से उसका प्रेमी तारक भास्कर चिढ़ गया था और महिला से बदला लेना चाहता था। पुलिस ने बताया कि घटना का मुख्य आरोपी तारक ही था और उसने घटना से पहले महिला के रेप करने की धमकी भी दी थी।
पुलिस को दी गई शिकायत के मुताबिक आरोपी 1:30 बजे रात को महिला के घर में घुसा उसके दो और लोग भी थे। तीनों ने महिला पर हमला बोल दिया। पुलिसन ने बताया कि महिला ने तारके खिलाफ शिकायत दी थी जिसे छापेमारी कर गिरफ्तार कर लिया गया है। आरोपी की निशानदेही पर उसके दो और साथियों की भी तलाश की जा रही है।
बच्ची के चिल्लाने पर लोगों ने पहुंचाया अस्पताल
घटना कोलकाता से करीब 195 किमी दूर की है। यहां महिला अपनी 13 साल की बेटी और 9 साल के बेटे के साथ रहती है। उसका पति किसी दूसरे राज्य में नौकरी करने गया है। वहीं आरोपी तारक दूसरे मुहल्ले में रहता है और शादीशुदा है। तारक के दो बच्चे भी हैं। लेकिन जब महिला ने उससे दोस्ती तोड़ने की बात कही तो वह अपने साथियों को साथ लेकर महिला को सबक सिखाने की ठानी थी।
शुक्रवार की रात भी भास्कर महिला को एक खंडहर में ले गया था और उसका रेप किया था। महिला ने जब इस बारे में लोगों से बताने को कहा तो उसने गैंगरेप की धमकी दी और रविवार की रात यानी सोमवार को तड़के उसके साथ गैंगरेप को अंजाम दिया।यहां आरोपी तीनों ने महिला से गैंगरेप किया और छोड़कर जाते वक्त उसके प्राइवेट पार्ट में कांच की बोतल डाल दिया। घटना वक्त महिला की बेटी जग गई थी और वह लोगों से बचाने की गुहार लगा रही थी लेकिन कोई भी पड़ोसी उनकी मदद के लिए आगे नहीं आया।
इस झकझोर देने वाली घटना के पांच घंटे बाद महिला को अस्पताल ले जाया गया। महिला की हालत गंभीर है उसे बेहतर ईलाज की जरूरत है लेकिन उसे कोई दूसरे अस्पताल पहुंचाने वाला नहीं है। महिला ने पुलिस को बताया कि आरोपी रात को उसके घर में कूदे थे और उसे पकड़कर दोनों हाथ बांध दिए थे। वह चिल्लाती लेकिन दरिदों में उसका मुंह दबा रखा था।

SHARE