बेटी को भूल जा, खरीदा है तुझे, जैसा चाहेंगे वैसा रहना पड़ेगा

मलावर में सुमेर के हवाले करने के बाद आरोपी शानू,रंजीत और गंगाराम उसकी 3 साल की बेटी को लेकर गायब हो गए थे। उसने सुमेर से बेटी के बारे में पूछा तो उसने कहा था कि बेटी को भूल जा। हमने तुझे खरीदा है,जैसा चाहेंगे वैसा तुझे रहना पड़ेगा। सुमेर और उसका पिता लक्ष्मण उस पर हमेशा निगरानी रखते थे। सुबह उसे साथ में खेत पर ले जाते थे। शाम को घर आने के बाद कमरे में रखते थे। सुमेर का पिता भी उस पर बुरी नजर रखता था,लेकिन वह किसी तरह उससे बचती रहती थी।
यह आपबीती राजधानी से अगवा कर मलावर(राजगढ़) में डेढ़ लाख रुपए में बेच दी गई 28 वर्षीय युवती की है। जिसे शनिवार को पुलिस ने मलावर से मुक्त कराया है। उसकी बेटी को विदिशा से गंगाराम के कब्जे से बरामद किया गया है। नर्क से आजाद होने के बाद उसने पुलिस को अपनी दर्द भरी दास्तान सुनाई है। एएसपी राजेशसिंह भदौरिया ने बताया कि अपहरण,मानव तस्करी के इस मामले में पकड़े गए पुष्पा नगर निवासी रंजीत और खुरई निवासी गंगाराम को पुलिस ने रविवार को 3 दिन के पुलिस रिमांड पर लिया है।
इस मामले में पीरगेट निवासी शानू,महिला को खरीदने वाले सुमेरसिंह और उसके पिता लक्ष्मण की सरगर्मी से तलाश की जा रही है। इसके लिए पुलिस की पांच टीम बनाई गई हैं। आरोपी पिता-पुत्र के राजस्थान भागने की संभावना है। दलअसल मलावर स्थित उनका गांव भाटापार राजस्थान की सीमा से लगा हुआ है। गौरतलब है कि शाहजहांनाबाद पुलिस ने एक महिला की शिकायत पर 14 अक्टूबर को उसकी 28 वर्षीय बहन की गुमशुदगी दर्ज की थी। युवती अपनी 3 साल की बेटी के साथ अचानक लापता हो गई थी।

SHARE