चुनावी रंजिश को लेकर दो गुटों में खूनी संघर्ष, 5 लोगों की मौत 8 गंभीर रूप से घायल

हरियाणा के ग्रेटर फरीदाबाद के गांव पलवली में सरपंच चुनाव के बाद से चली आ रही रंजिश रविवार रात 10 बजे हिंसक झड़प में तब्दील हो गई। इसमें एक ही पक्ष के पांच लोगों की मौत हो गई और तीन अन्य घायल हो गए। सूचना मिलने पर मौके पर पहुंची पुलिस ने घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया।  इस घटना के बाद गांव में दहशत का माहौल है. वहां भारी संख्या में पुलिस बल को तैनात कर दिया गया है। पलवली गांव में करीब डेढ़ साल पहले हुए पंचायत चुनाव में पूर्व सरपंच बिल्लू पलवली की पत्नी ने चुनाव जीता था. उस दौरान गांव के श्रीचंद के साथ उनका विवाद हो गया था।  इसके बाद से दोनों पक्षों में कई बार झड़प हो चुकी थी।

रविवार रात 10 बजे गांव में दोनों गुटों में फिर से विवाद हो गया. इस दौरान एक पक्ष द्वारा की गई फायरिंग में 5 लोगों की मौत हो गई, जबकि 8 गंभीर रूप से घायल हो गए। मारे गए लोगों के नाम श्रीचंद, नवीन, पिंटू, राजेंद्र और ईश्वर दत्त हैं। घायलों को मेट्रो अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इस हमले में 8 लोग गंभीर रूप से घायल भी बताए जा रहे हैं। इस घटना के पीछे चुनावी रंजिश बताई जा रही है। बीती देर रात इसी रंजिश को लेकर आतंक का नंगा नाच देखने को मिला।
मामले की संजीदगी को देखते हुए केंद्रीय मंत्री कृष्णपाल गुर्जर, विधायक सीमा त्रिखा, डॉ. हनीफ कुरैशी समित पुलिस विभाग के आला अधिकारी मौके पर जा पहुंचे और अब जल्द ही आरोपियों की गिरफ्तारी की बात कर रहे हैं। पुलिस ने इस मामले में 27 नामजद समेत 10 -15 अन्य के खिलाफ मामला दर्ज किया है।

पुलिस ने बताया कि इस वारदात में राजेंद्र प्रसाद (55), ईश्वर चंद (40), श्रीचंद (61), नवीन (36) और देवेंद्र (35) की मौत हो गई इस मामले की गंभीरता को देखते हुए केंद्रीय मंत्री कृष्णपाल गुर्जर और विधायक सीमा त्रिखा मौके पर जा पहुंचे. अस्पताल में जाकर पीड़ित परिवार को सांत्वना दी केंद्रीय मंत्री ने परिजनों को विश्वास दिलाया कि आरोपी चाहे कितना भी बड़ा हो उसे बख्शा नहीं जाएगा. कानून अपना काम करेगा

SHARE