गेम ऑफ अयोध्या के डायरेक्टर पर हमला, बाबरी विध्वंस और हिंदू-मुस्लिम मसले पर आधारित है फिल्म

गेम ऑफ अयोध्या के डायरेक्टर पर हमला, बाबरी विध्वंस और हिंदू-मुस्लिम मसले पर आधारित है फिल्म

फिल्म गेम ऑफ अयोध्या के डायरेक्टर सुनील सिंह के घर पर हमला हुआ है। रविवार को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के सहयोगी संगठन हिंदू जागरण मंच ने अलीगढ़ सिविल लाइंस इलाके में उनके घर के बाहर फिल्म को लेकर विरोध प्रदर्शन किया। संगठन ने इस दौरान उनके घर की दीवारों पर कालिख पोती। घटना के दौरान तकरीबन 250 पुलिसकर्मी वहां थे। मगर किसी ने भी संगठन के कार्यकर्ताओं को ये सब करने से नहीं रोका। वहीं, डायरेक्टर ने इस मामले में राज्य और केंद्र सरकार से सुरक्षा मांगी है। आपको बता दें कि यह फिल्म इसी आठ दिसंबर को रिलीज होनी है, जिसकी कहानी उत्तर प्रदेश के अयोध्या में विवादित धर्मस्थल के विध्वंस के दौरान की है। फिल्म में एक हिंदू लड़के और मुसलिम लड़की के बीच की प्रेम कहानी दिखाई गई है। वहीं, फिल्म को लेकर हिंदू जागरण मंच के कार्यकर्ताओं का कहना है कि उन्होंने फिल्म का ट्रेलर देखा है। फिल्म में इतिहास के साथ छेड़छाड़ की गई है।

विरोध प्रदर्शन के बाद पीड़ित डायरेक्टर के घर के बाहर पुलिस को तैनात किया गया था। मगर अब तक किसी पर घटना के संबंध में कार्रवाई नहीं की गई है। हिंदू जागरण मंच के राज्य सचिव संजू बजाज ने इस बारे में कहा, “मैंने फिल्म का ट्रेलर देखा है। इसमें दिखाया गया है कि वहां (विवादित स्थल पर) कोई मंदिर नहीं था। जबकि, मूर्तियां बाद में वहां रखी गई थीं। हम अलीगढ़ में इसकी स्क्रीनिंग नहीं होने देंगे। मैंने सिनेमाहॉल्स के मालिकों को भी इस बाबत चेतावनी दी है कि अगर वे इसे दिखाएंगे और कोई दुर्भावनापूर्ण घटना होती है तो उसके लिए वे ही जिम्मेदार होंगे।”

SHARE