गरबा में शामिल होने पर दलित युवक की पीट-पीटकर बेरहमी से हत्या

गुजरात के आणंद जिले में रविवार को एक दलित दलित युवक की पीट-पीटकर बेरहमी से हत्या कर दी गयी यहाँ उत्पीड़न के मामले थमने का नाम नहीं ले रहे। अभी मूंछ रखने को लेकर दलित युवक से मारपीट का केस ठंडा भी नहीं पड़ा है कि एक दलित युवक को गरबा में शामिल होने पर मार दिए जाने का मामला सामने आया है। मामला आणंद जिले का है, जहां गरबा देखने आए 19 वर्षीय दलित युवक की कथित रूप से पीट-पीटकर हत्या कर दी गई। आरोप पटेल समुदाय के कुछ लोगों पर लगा है जो गरबा आयोजन में भाग लेने आए थे। घटना को लेकर दलित समुदाय में भारी आक्रोश है। पुलिस ने इस मामले में आठ लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। यह घटना तड़के करीब चार बजे के करीब हुई। भद्रान पुलिस थाने के एक अधिकारी ने कहा कि आरोपी ने कहा कि दलितों को ‘‘गरबा देखने का अधिकार नहीं है. उसने जातिवादी टिप्पणी की और कुछ लोगों को मौके पर आने को कहा। अधिकारी ने कहा कि अगड़ी जाति के लोगों ने कथित तौर पर दलितों की पिटाई की और जयेश का सिर एक दीवार पर दे मारा। अधिकारी ने कहा कि अगड़ी जाति के लोगों ने कथित तौर पर दलितों की पिटाई की और जयेश का सिर एक दीवार पर दे मारा। जयेश को करमसाड में एक अस्पताल ले जाया गया जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। अधिकारी ने कहा, ‘हमने 8 लोगों के खिलाफ हत्या और ज्यादती निरोधक अधिनियम के तहत एफआईआर दर्ज की है।

जयेश को करमसाड में एक अस्पताल ले जाया गया जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया. अधिकारी ने कहा, ‘‘हमने आठ लोगों के खिलाफ हत्या और ज्यादती निरोधक अधिनियम के तहत एफआईआर दर्ज की है। पुलिस उपाधीक्षक (अनुसूचित जाति/जनजाति प्रकोष्ठ) ए एम पटेल ने कहा कि यह पूर्व-नियोजित हमला नहीं लगता।घटना आपस में अचानक हुई गर्मा-गर्मी से हुई। उन्होंने बताया कि पुलिस घटना के हर पहलू पर जांच कर रही है। आरोपियों को जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा। पिछले दिनों गुजरात में दलितों के खिलाफ अत्याचार के कई मामले सामने आए हैं। हाल ही में स्टाइलिश मूंछ रखने पर दलित युवक के साथ मारपीट का मामला सामने आया था। ऊना कस्बे में गोहत्या को लेकर चार दलित युवकों को बेरहमी से पीटे जाने की घटना के खिलाफ बड़ा आंदोलन भी हुआ था, लेकिन दलित उत्पीड़न के मामले नहीं थम रहे।

SHARE