भाजपा संसदीय दल की बैठक खत्म, सीएम के नामों पर हुई माथापच्ची

गुजरात और हिमाचल प्रदेश में बीजेपी की बहुमत की सरकार बनने के बाद अब दोनों ही राज्यों में मुख्यमंत्री को लेकर माथापच्ची जारी है। संसद भवन की पार्लियामेंट लाइब्रेरी में भाजपा की संसदीय दल की बैठक हुई। इस बैठक में हाल में दो राज्यों में मिली जीत पर चर्चा हुई।

बैठक में हिस्सा लेने के लिए भाजपा अध्यक्ष अमित शाह, पीएम नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री राजनाथ सिंह समेत कई बड़े नेता शामिल हुए। अमित शाह ने पीएम मोदी का माला पहनाकर स्वागत किया। पीएम मोदी ने सभी का हाथ जोड़कर अभिवादन किया। इस दौरान बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने जीत का लड्डू पीएम को खिलाया। भाजपा संसदीय दल की बैठक के बाद संसदीय कार्यमंत्री अनंत कुमार ने मीडिया को संबधित करते हुए कहा कि बैठक को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि हमारे बूथ स्थर के कार्यकर्ता लोगों की मदद से जीत की ओर देखे। उन्हें जो विपक्ष बोल रहा है उसकी ओर नहीं देखना चाहिए और ना ही निम्न स्तर की टिप्पणी में संलिप्त होना चाहिए।

प्रधान मंत्री मोदी ने कहा कि हर मंच पर युवाओं को आगे बढ़ाने के लिए काम किया जाना चाहिए। प्रधान मंत्री ने नए मतदाताओं के बारे में बात की है जो 2012 के बाद जन्मे हैं। उन्होंने कहा कि देश, समाज और विकास की सेवाओं में नई पीढ़ी को शामिल किया जाना चाहिए। इस बैठक के बाद ऐसे कयास लगाए जा रहे है कि भाजपा उत्तर प्रदेश की तरह गुजरात में भी नया चेहरा दे सकती है। संगठन क्षमता और गुजराती भाषा जानने की वजह से स्मृति और पाटीदार कम्युनिटी से आने वाले केंद्रीय मंत्री मनसुख मांडविया का नाम भी सीएम रेस में चल रहा है।

वहीं हिमाचल में प्रेम कुमार धूमल के चुनाव हार जाने के बाद केंद्रीय मंत्री जेपी नड्डा और 5 बार के विधायक जयराम ठाकुर रेस में सबसे आगे बताए जा रहे हैं। हिमाचल प्रदेश के लिए भाजपा संसदीय बोर्ड ने मंगलवार को निर्मला सीतारमण और नरेंद्र तोमर को विधायकों से विचार-विमर्श करने की जिम्मेदारी सौंपी गई। इन्हीं की रिपोर्ट के आधार पर नए सीएम की घोषणा की जाएगी। इस बैठक में गृह मंत्री राजनाथ सिंह, विदेश मंत्री सुषमा स्वराज, वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी, रविशंकर प्रसाद समेत पार्टी के सभी सांसद मौजूद हैं। दिलचस्प यह है कि आज ही कांग्रेस के सांसदों की भी बैठक होने वाली है।

SHARE