राष्ट्रपति चुनाव: अब कांग्रेस विधायकों में फूट डलवा रही नीतीश कुमार की जदयू

रामनाथ कोविंद को एनडीए द्वारा राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार बनाए जाने के बाद कांग्रेस के नेतृत्व में विपक्षी दलों ने मीरा कुमार को अपना उम्मीदवार घोषित किया। टीआरएस, जदयू, तेलुगुदेशम, बीजेडी के समर्थन के बाद एनडीए के उम्मीदवार की जीत तय मानी जा रही है लेकिन बीजेपी को विपक्षी कांग्रेस के विधायकों का भी वोट मिल सकता है। मीडिया रिपोर्ट में दावा किया गया है कि बिहार के छह कांग्रेस विधायक रामनाथ कोविंद को राष्ट्रपति चुनाव में वोट दे सकते हैं। राज्य के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पहले ही कोविंद को समर्थन देने की घोषणा कर चुके हैं। बिहार में जदयू, राजद और कांग्रेस की गठबंधन सरकार है।

इकोनॉमिक्स टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार बिहार के बारबीघा के विधायक सुदर्शन कुमार, भागलपुर के विधायक अजीत शर्मा, बेतिया के विधायक मदन मोहन तिवारी, बिक्रम के विधायक सिद्धार्थ, बहादुरगंज के विधायक तौसीफ आलम और कस्बा के विधायक आफाक आलम से जदयू नेता संपर्क में हैं। रिपोर्ट के अनुसार इन सभी विधायकों से कांग्रेस की उम्मीदवार मीरा कुमार के खिलाफ बीजेपी उम्मीदवार कोविंद को वोट देने के लिए मनाया जा रहा है। हालांकि बिहार कांग्रेस के अध्यक्ष और नीतीश सरकार में शिक्षा मंत्री अशोक चौधरी ने विधायकों द्वारा बीजेपी उम्मीदवार को वोट देने की संभावना से इनकार किया। कांग्रेस नेता का दावा है वो एकजुट हैं।

SHARE