भीम आर्मी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी भंग,नहीं होगा ‘रावण’ का हस्तक्षेप

सहारनपुर हिंसा के बाद चर्चा में आई भीम आर्मी भारत एकता मिशन की राष्ट्रीय कार्यकारिणी को भंग कर दिया गया है। नई कार्यकारिणी का गठन किया जा रहा है जिसमें चंद्रशेखर उर्फ रावण के परिवार के किसी सदस्य का किसी भी कार्य एवं पद पर कोई हस्तक्षेप नहीं रहेगा। आपको बता दें कि भीम आर्मी सहारनपुर हिंसा के बाद चर्चा में आई थी। उसके संस्थापक चंद्रशेखर इस वक्त हिंसा फैलाने के आरोप में जेल में हैं।

भीम आर्मी के उत्तराखंड के प्रदेश प्रभारी महक सिंह ने यह घोषणा की है. बताया जाता है कि चंद्रशेखर उर्फ रावण के कहने पर ही महक सिंह ने एक प्रेस नोट जारी कर यह जानकारी दी है. प्रेस नोट में कहा गया है कि उत्तराखंड, राजस्थान और बिहार को छोड़ कर पूरे देश में भीम आर्मी की कार्यकारिणी को भंग कर दिया गया है.

यहां बताना प्रासंगिक होगा कि सहारनपुर जनपद में ठाकुरों और दलितों के बीच जातीय हिंसा के बाद भीम आर्मी चर्चा में आयी थी. जातीय हिंसा कराने का आरोप संगठन के संस्थापक चंद्रशेखर आजाद उर्फ रावण पर लगा था. इसके बाद पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था.

SHARE