कानपुर: गंगा, बेतवा और मंदाकनी नदी में विसर्जित होंगी अटलजी की अस्थियां

 प्रदेश सरकार के अल्पसंख्यक विभाग के मंत्री मोहसिन रजा 24 अगस्त को अस्थि कलश लेकर कानपुर आएंगे। जाजमऊ से बिठूर के ब्रम्हावर्त घाट तक लगभग 35 किलोमीटर की यात्रा की जाएगी। जगह-जगह अस्थि कलश पर फूलों की वर्षा की जाएगी, प्रदेश सरकार के मंत्री, कार्यकर्ता और आम लोग इस मौके पर मौजूद रहेंगे।

कानपुर के ब्रम्हावर्त घाट पर पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी बाजपेयी की नातिन नंदिता मिश्रा अस्थियों को विसर्जित करेंगी। नंदिता की ससुराल कानपुर में है और उनकी शादी कांग्रेस नेता सुमित मिश्रा से हुई है। जब अटलजी प्रधानमंत्री थे तब वो नंदिता की शादी में शामिल होने के लिए आये थे।

एक रथ में अटल जी का अस्थि कलश होगा। शहरवासी श्रद्धासुमन अर्पित कर सकेंगे। साथ में दूसरे रथ पर नगर विकास मंत्री सुरेश खन्ना, एमएसएमई एवं निर्यात प्रोत्साहन मंत्री सत्यदेव पचौरी, औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना, खनन राज्यमंत्री अर्चना पांडेय और अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री मोहसिन रजा सहित अन्य जनप्रतिनिधि और संगठन के पदाधिकारी होंगे। शाम करीब चार बजे कलशयात्रा बिठूर के पत्थर घाट पहुंचेगी। वहां अटल जी की पौत्री नंदिता, उनके पति सुमित मिश्रा, नातिन रेखा पांडेय, नाती अभिषेक पांडेय और देवर्षि शर्मा भी रहेंगे।

SHARE