नौकायन में भारत को पदक दिलाने वाले विजेता दुष्यंत की तबीयत अचानक बिगड़ी

18वें एशियाई खेलों में छठे दिन (शुक्रवार) को भारत की झोली में एक और स्वर्ण पदक आया। भारतीय खिलाड़ी दुष्यंत ने नौकायन में गोल्ड मैडल भारत को दिलाया साथ ही पुरुषों की लाइटवेट एकल स्कल्स स्पर्धा के फाइनल में तीसरा स्थान हासिल कर कांस्य पदक जीता। फाइनल में दुष्यंत ने इस स्पर्धा को समाप्त करने में 7 मिनट और 18.76 सेकेंड का समय निकाला।

लेकिन पदक जीतने वाले विजेता दुष्यंत की तबीयत बिगड़ गई, उन्हें मेडल सेरेमनी के बाद स्ट्रेचर पर ले जाया गया, बताया जाता है कि दुष्यंत हाई ब्लड प्रेशर से परेशान थे, और पदक लेकर पोडियम से उतरने के बाद असहज महसूस कर रहे थे।

बता दें कि दुष्यंत ने 2014 में भी एशियाई खेलों में इसी स्पर्धा में भारत को कांस्य पदक दिलाया था, हालांकि, इस बार उनका समय पिछले एशियाई खेलों से बेहतर है, उन्होंने इंचियोन में 2014 में हुए एशियाई खेलों में इस स्पर्धा को 7 मिनट और 26.27 सेकेंड में पूरा किया था। इस स्पर्धा का स्वर्ण पदक दक्षिण कोरिया के खिलाड़ी ह्यूनसु पार्क ने जीता।

पुरुषों की लाइटवेट डबल्स स्कल्स में रोहित कुमार और भागवान सिंह ने भारत को दूसरा ब्रॉन्ज मेडल दिया। इसके साथ ही भारत के पदको की संख्या में इजाफा हुआ है, रोहित और भगवान ने 7 मिनट और 04.61 सेकेंड का समय लेकर स्पर्धा का फाइनल चरण पूरा किया और तीसरे स्थान पर रहकर कांस्य पदक पर कब्जा जमाया।

SHARE