जीएसटी समारोह का बहिष्कार करने के मूड में विपक्ष

केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार 30 जून की मध्य रात्रि में भव्य समारोह के साथ वस्तु व सेवा कर (जीएसटी) के शुरुआत का एलान करने की तैयारी कर रही है। लेकिन कांग्रेस समेत कई विपक्षी दल सरकार के मंसूबों पर पानी फेर सकते हैं। इस मौके को विपक्षी गठबंधन की एकता दिखाने का एक और मौका मानते हुए कांग्रेस समेत कई विपक्षी दल जीएसटी के एलान के लिए बुलाई गई संसद की विशेष बैठक का बहिष्कार करने पर विचार कर रहे हैं। हालांकि कांग्रेस ने अभी बहिष्कार का औपचारिक एलान नहीं किया है। कांग्रेस गुरुवार को इस बारे में फैसला लेगी। दूसरी ओर, तृणमूल कांग्रेस ने बहिष्कार का एलान कर दिया है। माकपा नेता सीताराम येचुरी ने सरकार की मंशा पर सवाल उठाते हुए पूछा है कि जल्दबाजी क्यों की जा रही है? उन्होंने कहा कि जब व्यापारी हड़ताल कर रहे हैं तो जश्न मनाने का क्या औचित्य है?  विपक्षी दलों का मानना है  कि केंद्र सरकार बिना पूरी तैयारी के इतने बड़े कर सुधारों को लागू कर रही है, जिससे अफरा-तफरी मचेगी। कुछ का मानना है कि मोदी सरकार जीएसटी का पूरा श्रेय लेना चाहती है। कांग्रेस नेताओं का कहना है कि जीएसटी के आने से व्यापारियों को नुकसान होगा।

SHARE