फिर पिटी खाकी, दरोगा को पीटा पिता पुत्र और बहू ने,जांच करने गये थे दरोगा

 

वरिष्ठ संवाददाता अंकुर व्यास की रिपोर्ट: योगी राज में आम पब्लिक की हिफाजत का जिम्मा उठाने बाली खाकी पर लगातार हो रहे हमलों की कड़ी में आज कोतवाली कोंच के एक दरोगा को जम कर पीटा गया जिससे दरोगा को तमाम चोटें आईं। बताया गया है कि उक्त दरोगा ग्रामीणों द्वारा की गई एक शिकायत को लेकर गांव गये थे और जब उसने आरोपी को समझाने की कोशिश की तो वह, उसका पिता और पत्नी हमलावर हो गये और उन्होंने दरोगा की लाठी डंडों से पिटाई कर दी। दरोगा ने कोतवाली से और पुलिस बल मंगवा कर पिता-पुत्र को किसी तरह गिरफ्तार कर लिया। बाद में महिला पुलिस की मदद से हमलावर महिला को भी गिरफ्तार कर लिया गया। मामला कोतवाली क्षेत्र के ग्राम भदारी का है।
कोंच में खाकी की पिटाई कोई नई बात नहीं है, गाहे-ब-गाहे अराजक तत्वों के हाथों यहां कई बार पुलिस पिट चुकी है जिससे अराजक तत्वों के हौसले बुलंद हैं। आज सागर चौकी इंचार्ज एसआई राजीव कुमार त्रिपाठी ग्राम भदारी गये थे। उन्हें एक मामले की जांच जो गांव के लोगों द्वारा की गई थी कि गांव का ही निवासी राघवेन्द्र पटेल ग्रामीणों द्वारा तार फेंसिंग कर घेरे जाने बाले जानवरों को छुट्टा छोड़ देता है जिससे किसानों के बोये गये खेतों की फसलें वे चट कर जाते हैं, में गये थे। वे राघवेन्द्र के घर पहुंचे और उसे समझाने की कोशिश करने लगे कि उसके कृत्य से गांव बालों को परेशानी हो रही है, अगर उसकी हरकतें नहीं बदलीं तो उसके खिलाफ कार्यवाही अमल में लाई जायेगी। इतना सुनते ही राघवेन्द्र तैश में आ गया, उसने दरोगा के गाल पर तमाचा जड़ दिया। समीप ही खड़े राघवेन्द्र के पिता पूरनसिंह भी दरोगा के ऊपर हमला कर दिया और इतने में ही घर के भीतर से राघवेन्द्र की पत्नी संध्या हाथ में मोटा लठ लेकर आई और दरोगा के पैर में जोर से लाठी मार दी जिससे दरोगा जी बुरी तरह घायल हो गये। इतना ही नहीं, राघवेन्द्र ने पुलिस पर दबाब बनाने के लिये अपनी पत्नी को उकसाया कि वह अपने कपड़े फाड़ ले ताकि पुलिस के खिलाफ भी केस बन जाये। दरोगा के साथ के सिपाहियों ने किसी तरह पिता-पुत्र को काबू में किया और कोतवाली ले आये। कोतवाली से महिला कांस्टेबिल को बुला कर संध्या को भी गिरफ्तार कर लिया गया। तीनों के खिलाफ दरोगा की तहरीर पर मुकदमा कायम किया जा रहा है।

SHARE